wordpress seo in hindi

Beginners ke liye WordPress SEO guide (Step by Step) 2019-Hints4u

WordPress SEO In Hindi-अपनी वेबसाइट में ट्रैफिक लेन के लिए हमारी वेबसाइट का search engine optimization अच्छा होना चाहिए.लेकिन नए ब्लॉगर को search engine optimization तकनीक के बारे में नहीं पता होता.यदि आप भी अपनी वेबसाइट की ट्रैफिक बढ़ाने चाहते हे.तो आपको WordPress SEO in hindi के एल्गोरिथ्म को जानना होगा.

Web Hosting

आपको अच्छे से SEO के बारे जानना हे और अपनी वेबसाइट की ट्रैफिक बढ़ाना हे तो ये आर्टिकल पूरा पढ़िए इसमें दिए गए इंस्ट्रक्शन को अपने ब्लॉग में फॉलो कीजिए.

इस आर्टिकल  में आपको WordPress SEO In Hindi को बेहतरन और High Traffic  लेन के लिए Top WordPress SEO Tips  शेयर करूंगा.

wordpress seo in hindi

आपको पता ही होगा की वर्डप्रेस प्लेटफार्म search engine optimization के लिए बेस्ट हे,और हकितक हे इस लिए ज्यादा लोग ब्लॉग स्टार्ट करने के लिए वर्डप्रेस पलेटफोर्म का यूज करते हे.

वर्डप्रेस में html codes seo बेटस वे से पालन करता हे और भी आपके ब्लॉग को search engine optimization में बेस्ट करना हे तो आपको बहुत कुछ करने की आवश्यकता हे.

आज में जो स्टेप बताऊंगा इससे आपके ब्लॉग का SEO बहुत बेस्ट हो जाएंगे.

What is SEO?

SEO का फुल नाम search engine optimization हे.यह वेबसाइट के ओनर द्वारा SEO में रैंकिंग बढ़के ट्रैफिक जेनरेट करके पैसा कमाने के बहुत काम आता हे.

Google या गेमिंग सिस्टम को धोखा देने के बारे में सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन नहीं है. यह बस एक ऐसी वेबसाइट बनाने के बारे में है जिसमें optimized code and formatting है जो आपकी वेबसाइट को खोजने के लिए सर्च इंजन के लिए आसान बनाता है.

जब लोग कुछ query गूगल में सर्च करते हे और आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का अच्छा SEO होने की वजह से गूगल के 1st page मे आता हे तो आपके ब्लॉग पर क्लिक करने की आवश्यकता होगी.जिससे अच्छा खासा ट्रैफिक आपके वर्डप्रेस वेबसाइट में आएगा.

Why SEO is important?

जयादातर वेबसाइट को ट्रैफिक का सोर्स सीओ से ही मिलता हे.

अगर आप भी SEO से Organic Traffic  लाना चाहते हे तो आपको अपने ब्लॉग में powerfull SEO करना होना.और उसके लिए आपको पहले seo के अल्गोरिथम के बारे में जानना होगा.लेकिन इतना काफी नहीं हे ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए इसके लिए आपका content भी मैटर करता हे.

अगर आपने seo से आप्का कंटेंट ऑप्टिमाइज़ नहीं किया और आप seo के बारे में नहीं जानते हे तो. आपका कंटेंट सर्च रिजल्ट में नहीं आएगा और इससे आपको कुछ भी ट्रैफिक नहीं मिलेगी.सीओ सभी वेबसाइट ओनर के लिए बहुत ही इम्पोर्टेन्ट हे जिससे वो ट्रैफिक ला सके ब्लॉग में एअर्निंग हो पाए.

 

Check Your Site’s Visibility Settings

अगर आप चाहते हे की मेरी वेबसाइट अभी maintenance में हे और में उसको अभी में seo में छुपाना चाहता हु. इसलिए वर्डप्रेस में आपकी वेबसाइट छुपाने के लिए built-in option aata हे जिससे आप apni वेबसाइट सीओ के chupa sakte हे.

और कभी बार ये गलती से ऐसे ही रह जाता हे जिससे हमारी वेबसाइट seo में ही नहीं आती हे.

यदि आप्की वेबसाइट seo में नहीं दिखाई दे रही हे तो आपको सबसे पहले इस बटन तो ऑफ करना होगा मतलब की इसमें से टिकमार्क निकल ना होगा.

इसके आपको आपकी वेबसाइट के एडमिन एरिया में लोगीन होना हे और setting>>reading में जाना हे

इसके स्क्रॉल डाउन करने से ‘Search Engine Visibility’ आपको एक डायलॉग बॉक्स दिखेगा इसमें से आपको टिकमार्क निकल ना हे.और सेव चेंज करना हे.

SEO Friendly url कंटेंट को रैंक करने में बहुत ही हेल्प करती हे इस लिए आप स्पेसिफिक कीवर्ड का यूआरएल ही यूज कीजिए.अगर आप बहुत लम्बी यूआरएल यूज करते हे सर्च इंजन आपको फाइंड नहीं कर पायेगा.

इसके लिए में आपको एक exmalple देता हु.

//www.hints4u.com/wordpress-seo-in-hindi/

 

आप ऐसी यूआरएल का यूज करो की कोई यूजर यूआरएल को पढ़ के समज जाना चाहिए की वो अंदर क्या पढ़ने वाला हे.

जो कोई नंबर वाली या फिर डेट वाली नहीं होनी चाहिए.

//hints4u.com/?p=16747

//example.com/archives/786

अगर आप सीओ फ्रेंडली पर्मालिंक स्ट्रक्चर का यूज करेंगे तो आपके चांसेस बढ़ जायेगे और आप अच्छे पोजीशन पे आएंगे सर्च इंजन में.

आपको Settings » Permalinks जान हे वह से आपको post name Permalinks को सेलेक्ट करना हे.

अगर आपकी वेबसाइट 3 या 4 month old हे वो गूगल में रैंक हे तो उसकी Permalinks मत चेंज कीजिए क्युकी इसकी वजह से आपकी रैंकिंग डाउन हो सकती हे.और आर्टिकल की लिंक में वर्ष या फिर डेट का यूज मत कीजिए जिससे वो हम अपडेट नहीं कर सकते हे.और अपडेट कर dete हे तो रैंकिंग डाउन हो जाती हे जिससे हमे ट्रैफिक नहीं मिलेगा.

WWW vs non-WWW

यदि आप अपनी वेबसाइट को स्टार्ट करने का सोच रहे हे तो तो आपको आपकी वेबसाइट की साइट यूआरएल को सेलेक्ट करना होगा (//www.example.com) या फिर (//example.com) आप इन दोनों मेसे किसी एक तो सेलेक्ट कर सकते हे.

search engine इन्हे दो अलग अलग वेबसाइट मानते हे ,इसलिए इसका मतलब हे की किसी एक को ही सेल्क्ट करना होगा.

आपको setting >>general में wordpress url और site address लिखा दिखेगा वह आप जो भी सेलेक्ट करना चाहते हे उसे सेलेक्ट कर सकते हे.

The Best WordPress SEO plugin

वर्डप्रेस इतना फेमस क्यों हे ये आपको भी पता ही होगा के प्लगइन की वजह से बहुत ही फेमस हे.वर्डप्रेस सो में भी लगभग ५० % काम तो सो प्लगइन ही करता हे.और ऐसे हजारो प्लगइन हे सो के लिए इस लिए अगर आप नए ब्लॉगर हे तो कोनसा प्लगइन बेस्ट हे सो के लिए ये आप आसानी से सेलेक्ट नहीं कर सकते.

सबसे अच्छा सो के लिए २ प्लगइन हे इसका नाम yoast seo और all in one seo pack हे दोनों बहुत पॉपुलर प्लगइन हे और ये प्लगइन फ्री वर्शन में भी availble हे.

हम हमारी वेबसाइट में yoast seo का यूज करते हे.मुझे ऐसा लगता हे की yoast seo बेस्ट प्लगइन हे seo के लिए.

Add XML Sitemaps in WordPress

गूगल सर्च कंसोल ko  वेबमास्टर टूल से भी जाना जाता हे.इसमें सर्च इंजन कैसे काम करता हे आपकी वेबसाइट के ऊपर एक दिन में कितने इम्प्रैशन हुए कितने क्लिक हुए,आपकी वेबसाइट कोनसे कीवर्ड पर रैंक है ये सबके बारे में डिटेल देता हे जिससे आप उससे भी अच्छा सो आपके ब्लॉग में कर सको.

यह सब जानकारी आपको यह समझने में मदद करती है कि आपकी साइट पर क्या काम हो रहा है और क्या नहीं। फिर आप अपने कंटेंट के अनुसार plan बना सकते हैं.

Google search console आपको तब भी suggest करता है जब आपकी वेबसाइट में कुछ गड़बड़ हो, जैसे कि जब सर्च क्रॉलर इसे एक्सेस करने में असमर्थ होते हैं, तो डुप्लिकेट content, या restricted resources.

गूगल्स सर्च कंसोल आप वेबसाइट की कोई भी नई लिंक को २ मिनियते में इंडेक्स करवाके रैंक करवा सकते हे.जिससे आपकी पोस्ट गूगल के १ सत पेज में आने के चान्सेस बढ़ जाते हे.

में आपको suggest करता चुकी आप अपने ब्लॉग का सर्च कंसोल वीकली बेस पर देखते रहिये जिससे आपको पता चले की आपके ब्लॉग seo के लिए क्या कमी हे.और इसके लिए हमको क्या करना चाहिए.

Optimizing Your Blog Posts for SEO

आप sirf ब्लॉग में आर्टिकल डालेंगे तो कुछ नहीं होगा आपको उस आर्टिकल को गूगल में रैंक भी करवाना होगा.इसके लिए आपको स्पेफिक कीवर्ड का यूज करना होंगे.इमेज में ऑल्ट टैग लगाने होंगे.ये सभी बाटे ध्यान में रखते आपको अपना आर्टिकल रैंक करवाना हे.

अगर आपको नहीं पता की आर्टिकल को seo ऑप्टिमाइज़ कैसे करे और क्या क्या बाटे का ख्याल रखे जिससे हम अपना आर्टिकल आसानी से गूगल में रैंक करवा सके.तो आप हमे कमेंट सेक्शन बताये जिससे में नेक्स्ट आर्टिकल में उसके बारे में बात करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *